BEST BOOKS : प्रेम से भरी किताबें

BEST BOOKS : प्रेम से भरी किताबें

प्रभात प्रकाशन ने कुछ खूबसूरत प्रेम से भरी किताबें ​प्रकाशित की हैं। इनमें पार्थ सारथी सेन शर्मा की पुस्तक 'लव इन लखनऊ', देवांशी शर्मा का उपन्यास 'शायद यही है प्यार', दिशा संगानी का उपन्यास 'डायरी ऑफ माई लव' और सुदीप नागरकर की पुस्तक 'एक प्रेम कहानी ऐसी भी' पाठकों को अलग अहसास करायेंगी।

लव इन लखनऊ
लव इन लखनऊ

पार्थसारथी सेन शर्मा की यह पुस्तक लखनऊ शहर की बात करती है। 'लव इन लखनऊ' के माध्यम से पाठक एक सैर पर होते हैं जिसका हर मोड़ रोमांच और उत्सुकता से भरा है। दोस्ती, प्यार और राजनीति की जबरदस्त कॉकटेल है यह उपन्यास।

राहुल, दिनेश और फ़िरोज़ की यह कहानी पढ़ने में जितनी अलग है, वहीं सत्ता और बदले के निशान भी इसमें मिल जाते हैं। अपने प्यार के लिए थोड़ा संघर्ष है तो कहीं रिश्तों की डोर आपसी समझ से जुदा कर दी जाती है। हर पात्र दमदार होकर अपना हिस्सा जी रहा है। हर किसी के पास बहुत कुछ है बताने को।

पार्थसारथी सेन शर्मा के अंदाज़ में यह उपन्यास नए-नए मोड़ों से गुजरता हुआ एक सुखद एहसास करवाता है। 

लेखक : पार्थ सारथी सेन शर्मा
प्रकाशक : प्रभात प्रकाशन
किताब का लिंक : https://amzn.to/3kkBUjZ

शायद यही है प्यार
शायद यही है प्यार

जो रिश्ता आइस स्केटिंग रिंक में बना और जिसे काम के बीच चाय और कॉफी के न जाने कितने ब्रेक ने मजबूती दी, वो प्यार के परवान चढ़ते ही पागलपन की हद तक जा पहुँचा। 

अल्हड़ और कामयाब फैशन ब्लॉगर मीरा को अपने सबसे अच्छे खडूस दोस्त, इशान से प्यार हो जाता है। साथ चलते, गिरते, साथ ही सँभलते, जब उन्हें अपनी मंजिल मिलती है, तो लगता है कि इससे बेहतर तो सफर ही था। 

‘शायद यही है प्यार’ दोस्ती की तलाश, प्यार के पीछे भागने, सपनों को उड़ान देने, और उन सबके बीच संतुलन कायम करने की कहानी है। एक सच्ची प्रेम कहानी जो दिल से निकली और अपनी राह ढूँढ़ रही है।

लेखक : देवांशी शर्मा
प्रकाशक : प्रभात प्रकाशन
किताब का लिंक : https://amzn.to/3kkBUjZ

डायरी ऑफ माई लव
डायरी ऑफ माई लव

अगर आपका दिल धड़कता है, तो आप अब भी सपने देख सकते हैं। अनुष्का युवा है, उत्साह और उमंग से भरी है, जिसने अपने लक्ष्य निश्चित कर लिये हैं। अपने सपनों को सच करते हुए उसने अभी-अभी कॉरपोरेट जगत् में कदम रखा है। जीवन शानदार लग रहा है। नौकरी के पहले ही दिन आयुष की मुलाकात अनुष्का से होती है और उसमें एक तरंग सी दौड़ने लगती है। अनायास ही अनुष्का से हुई बातचीत मन में ऐसी भावनाएँ जगाती है, जिनका एहसास उसे बरसों से नहीं हुआ था। चार साल बाद जब दोनों फिर से मिलते हैं, तो उनके दिल टूट चुके होते हैं और प्यार करने की इच्छा खत्म हो चुकी है। दोनों एक-दूसरे के दिल का दर्द दूर करते हैं और अपने-अपने सपनों को सच करने में मदद करते हैं। आखिर में जब दोनों अपने और एक-दूसरे के लिए जीने लगते हैं, तब जिंदगी एक क्रूर खेल खेलती है।

अनुष्का की डायरी ही उसकी सच्ची साथी है, जिसके पन्नों में ऐसे राज दफन हैं, जिन्हें कोई कभी नहीं जान पाएगा। आइए, भावनाओं के इस उतार-चढ़ाव भरे सफर में आयुष और अनुष्का के साथ चलें तथा उन रहस्यों को जानें, जिन्हें अनुष्का ने ‘डायरी ऑफ माई लव’ में दफन कर रखा है।

लेखक : दिशा संगानी
प्रकाशक : प्रभात प्रकाशन
किताब का लिंक : https://amzn.to/3EyO3K4

एक प्रेम कहानी ऐसी भी
एक प्रेम कहानी ऐसी भी

कभी-कभी प्यार महज आँखों का धोखा होता है। कभी-कभी यह आपकी जिंदगी का एकमात्र लक्ष्य बन जाता है। जब हर किसी पर यह बुखार चढ़ा है कि सोशल मीडिया पर क्या ट्रेंड कर रहा है, तब रघु किताबों में खोया है। उसके लिए तो प्यार करने का खयाल भी किताबों तक ही सिमटा है। फिर एक दिन उसकी मुलाकात रूही से होती है। करीब आ रहे छात्र-संगठन के चुनावों के दौरान उनका प्यार परवान चढ़ रहा था कि रघु एक ऐसी मुश्किल में फँस जाता है, जिससे निकलना उसके लिए असंभव सा हो जाता है। उसके जिगरी दोस्तों ने उसे बाहर निकालने का एक प्लान बनाया, लेकिन उसकी मुसीबत और बढ़ गई।

क्या रघु सही-सलामत निकल पाएगा या कैंपस की राजनीति का तूफान उसे उड़ा ले जाएगा?

सामाजिक-राजनीतिक दाँव-पेंच में उलझी पृष्ठभूमि पर आधारित सुदीप नागरकर की यह नई पुस्तक रिश्तों के स्याह पहलू, सत्ता की भूख और रसूखदारों के पाखंड की परतें उधेड़ती है।

लेखक : दिशा संगानी
प्रकाशक : प्रभात प्रकाशन
किताब का लिंक : https://amzn.to/3EyO3K4