Header Ads

banner image

तेजी ग्रोवर को मिला चौथा ‘वाणी फ़ॉउण्डेशन डिस्टिंग्विश्ड ट्रांसलेटर अवार्ड’

तेजी ग्रोवर को मिला चौथा
तेजी ग्रोवर ने नोर्वेजियाई साहित्य को भारतीय भाषाओं में अनुवादित करने काम किया है.
वाणी फ़ॉउण्डेशन द्वारा दिये जाने वाले ‘डिस्टिंग्विश्ड ट्रांसलेटर अवार्ड’ वर्ष 2019 के लिए प्रतिष्ठित अनुवादक, लेखक, पर्यावरण संरक्षक तेजी ग्रोवर को चुना गया। तेजी ग्रोवर को यह सम्मान 'ज़ी जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल' के प्रकाशन अंग, जयपुर बुक मार्क में प्रदान किया गया। तेजी ग्रोवर ने नोर्वेजियाई साहित्य को भारतीय भाषाओं में अनुवादित करने का महत्वपूर्ण काम किया है। उन्हें यह पुरस्कार नोर्वेजियाई एम्बेसडर नेल्स रेग्नार कामस्वेग के हाथों से मिला। निर्णायक मंडल के संदीप भुटोरिया, नीता गुप्ता, नमिता गोखले, संजोय रॉय एवं वाणी प्रकाशन के महानिदेशक अरुण माहेश्वरी ने सम्मान राशि के रूप में एक लाख रूपये का चेक प्रदान किया।

नोर्वेजियाई एम्बेसडर नेल्स रेग्नार कामस्वेग

पुरस्कार प्राप्त करने के बाद तेजी ग्रोवर ने कहा कि अनुवादक मूल रचना में जाकर वो मोती निकाल लाता है जो अनुवाद की भाषा में भी उसका सौन्दर्य नहीं खोने देता। इस लिहाज़ से अनुवादित रचना उतनी ही अनुवादक की है जितनी लेखक की।

वाणी फ़ॉउण्डेशन डिस्टिंग्विश्ड ट्रांसलेटर अवार्ड

वाणी फ़ॉउण्डेशन गत 4 साल से जयपुर साहित्य उत्सव में यह पुरस्कार प्रदान करता आ रहा है। इस पुरस्कार का मुख्य उद्देश्य अनुवाद के उस कार्य को सराहना है जिसे प्रायः अपनी महत्ता जितना श्रेय नहीं मिलता।

वाणी प्रकाशन 56 वर्षों से 32 विधाओं से भी अधिक में, बेहतरीन हिन्दी साहित्य का प्रकाशन कर रहा है| इसने प्रिंट,इलेक्ट्रॉनिक और ऑडियो प्रारूप में 6,000 से अधिक पुस्तकें प्रकाशित की हैं। देश के हज़ारों गाँव, 600 कस्बे, 54 मुख्य नगर और 12 मुख्य ऑनलाइन बुक स्टोर में उन्होंने अपनी उपस्थिति दर्ज करवाई है।

तेजी ग्रोवर