Header Ads

banner image

गगन गिल की पुस्तकों का लोकार्पण व परिचर्चा

प्रसिद्ध रचनाकार गगन गिल
कार्यक्रम का संचालन वाणी प्रकाशन की मुख्य सम्पादक रश्मि भारद्वाज करेंगी.

वाणी प्रकाशन से प्रकाशित प्रसिद्ध रचनाकार गगन गिल की तीन नयी पुस्तकों- ‘इत्यादि’, 'मैं जब तक आयी बाहर' और 'देह की मुँडेर पर' का लोकार्पण व परिचर्चा का आयोजन ऑक्सफोर्ड बुकस्टोर में दिनांक 9 मार्च 2019 को शाम 6:00 बजे किया जायेगा। परिचर्चा में भाग लेंगे वरिष्ठ लेखक हरीश त्रिवेदी, वरिष्ठ कवि एवं अनुवादक मंगलेश डबराल, वरिष्ठ रचनाकार, कवि, कला-समीक्षक एवं कहानीकार प्रयाग शुक्ल व कवि, अनुवादक एवं शिक्षाविद् सुकृता पॉल कुमार। कार्यक्रम का संचालन वाणी प्रकाशन की मुख्य सम्पादक रश्मि भारद्वाज करेंगी।

गगन गिल की करीब 35 वर्ष लम्बी रचना यात्रा में नौ कृतियाँ हैं- पाँच कविता-संग्रह: एक दिन लौटेगी लड़की (1989), अँधेरे में बुद्ध ( 1996), यह आकांक्षा समय नहीं (1998), थपक थपक दिल थपक थपक (2003), मैं जब तक आयी बाहर (2018) एवं 4 गद्य पुस्तकें: दिल्ली में उनींदे (2000), अवाक् (2008), देह की मुँडेर पर (2018), इत्यादि (2018)। अवाक् की गणना बीबीसी सर्वेक्षण के श्रेष्ठ हिन्दी यात्रा वृत्तान्तों में की गयी है। गगन गिल को भारतभूषण अग्रवाल पुरस्कार (1984), संस्कृति सम्मान (1989), केदार सम्मान (2000), हिन्दी अकादमी साहित्यकार सम्मान (2008) व द्विजदेव सम्मान (2010) से सम्मानित किया गया है।