Header Ads

banner image

‘नदियाँ हमारे यहाँ सभ्यता संस्कृति दोनों रही हैं, इन्हें नये सिरे से विनम्र आँखों से देखने की ज़रूरत है‘ - अभय मिश्रा

January 10, 2020

'इतिहास नदियों का नहीं, बल्कि मनुष्यों का ही होता है। नदियों का अस्तित्व तो मनुष्यों से भी पहले है।'

>> अधिक पढ़ें >>